12th के बाद क्या करे ? १२th के बाद Maths , Science और Commerce ? पूरी जानकारी

12th के बाद क्या करे ? १२th के बाद Maths , Science और Commerce ? पूरी जानकारी

12th ke baad kya kare ? 12वीं के बाद बच्चों को अक्सर समझ नहीं आता कि उन्हें सर्वसम्मति से कौन सा विषय चुनना चाहिए? दरअसल, यह भ्रम हर उस छात्र के लिए है, जो विषयों की पसंद के बीच अपना भविष्य तलाश रहा है। एक समय था जब इंजीनियरिंग, मेडिकल और सिविल सर्विसेज जैसे सीमित विकल्प थे।

अच्छे विद्यार्थी उसकी ओर रुख करते थे। लेकिन आज उसके सामने इतने विकल्प हैं कि वह भ्रमित हो जाता है और अगर वह सही तरीके से विषय का चयन नहीं करता है, तो भविष्य दांव पर है।

अपने करियर की योजना बनाएं

आज हर क्षेत्र में प्रतिस्पर्धा बढ़ गई है। व्यावसायिक विषयों में सीमित संख्या में प्रवेश हैं, प्रतियोगियों की संख्या अधिक है। आपके पास बहुत प्रतिभा या क्षमता हो सकती है, आपके पास योग्यता हो सकती है, लेकिन यह संभव है कि चुनाव कोर्स या कॉलेज में प्रवेश न लें। इसके लिए अलग से प्लान तैयार करना जरूरी है। विकल्पों के लिए करियर काउंसलर, शिक्षकों, पुराने छात्रों की भी मदद ली जा सकती है।

सही विषय का चुनाव करें

12वीं के बाद किसी खास कोर्स को चुनना छात्र की रुचि और विकल्पों पर निर्भर करता है। अगर आप आर्टिस्ट या क्रिएटिव हैं तो आप एडवरटाइजिंग, फैशन, डिजाइन जैसे कोर्स चुन सकते हैं। अगर आपके पास विश्लेषणात्मक दिमाग है तो इंजीनियरिंग या टेक्नोलॉजी के क्षेत्र आपके लिए बेहतर रहेंगे। कई विशेषज्ञ पाठ्यक्रम भी हैं, जिसके बाद आप अपने करियर में ऊंची उड़ान भर सकते हैं। ऐसे में जब भी छात्र किसी खास कोर्स या प्रोग्राम में दाखिला लेने जाएं तो एक बात साफ कर लें कि उस प्रोग्राम को चुनने के पीछे उनका मकसद क्या है? फिर भी, यदि भ्रम बना रहता है, तो अपना प्रोफाइल परीक्षण करें। इससे आप अपनी ताकत को जान पाएंगे और उसी के अनुसार कोर्स का चयन कर पाएंगे।

और पढ़े   Architecture In Hindi Architecture क्या है पूरी जानकारी

कोर्स का चयन करते समय इन खास बातों का ध्यान रखना जरूरी है। –

  • अपने पसंदीदा विषय के अनुसार पाठ्यक्रम चुनें: दूसरों की नकल करने से बचें, क्योंकि हर छात्र के अलग-अलग लक्ष्य, प्रतिभा और रुचियां होती हैं।
  • सेल्फ असेसमेंट: कोई भी कोर्स चुनने से पहले यह आत्मनिर्णय होना चाहिए कि आपको किस काम में सबसे ज्यादा दिलचस्पी है?
  • उन सभी विकल्पों की सूची बनाएं जिनमें आप खुद को साबित कर सकें।

विकल्प खोजें

अब विज्ञान विषय के छात्रों के पास केवल मेडिकल या इंजीनियरिंग का ही विकल्प था, लेकिन अब वह युग नहीं है। आज आपके सामने ढेरों विकल्प हैं। आप बायोटेक्नोलॉजी, बायोइंजीनियरिंग, फिजियोथेरेपी, ऑक्यूपेशनल थेरेपी, मेडिकल ट्रांसक्रिप्शन जैसे कोर्स कर सकते हैं। इसी तरह 12वीं क्लास का बिजनेस या होटल मैनेजमेंट कोर्स करने वाले रिटेलिंग, हॉस्पिटैलिटी, टूरिज्म इंडस्ट्री का हिस्सा बन सकते हैं। जो लोग क्रिएटिव हैं वे फैशन डिजाइनिंग, मर्चेंडाइजिंग, स्टाइलिंग का कोर्स कर सकते हैं।

संस्थान का चयन

आजकल संस्थानों में प्रवेश के लिए एक प्रवेश परीक्षा होती है, लेकिन सरकारी और निजी संस्थानों में प्रवेश लेने से पहले, आपको निम्नलिखित बातों पर विचार करना चाहिए – पहले यह पाया जाना चाहिए कि वह संस्थान उपयुक्त नियामक प्राधिकरण द्वारा मान्यता प्राप्त है। या नहीं ? संकाय गुणवत्ता। प्रोफेसर, व्याख्याता और सहायक प्रोफेसर का अनुपात। पाठ्यचर्या की विविधता । – नियुक्ति या नौकरी पाने का प्रतिशत।

बुनियादी सुविधाएं।

अन्य कोर्स

1. नैनो टेक्नोलॉजी: 12वीं के बाद नैनो टेक्नोलॉजी में बी.एससी या बी.टेक और उसके बाद उसी विषय में एमएससी या एम.टेक इस क्षेत्र में शानदार करियर बना सकते हैं।

2. अंतरिक्ष विज्ञान: इसमें 3 साल का बीएससी और 4 साल का बीटेक से पीएचडी कोर्स खासकर बैंगलोर स्थित इसरो और आईआईएससी में आयोजित किया जाता है।

3. रोबोटिक साइंस: जिन छात्रों ने रोबोटिक्स में एमई की डिग्री पूरी कर ली है, उन्हें इसरो जैसे प्रतिष्ठित संस्थान में शोध कार्य की नौकरी मिल सकती है।

4. एस्ट्रो-भौतिकी: आप 4 या 3 साल के बैचलर प्रोग्राम (भौतिकी में बीएससी) में प्रवेश ले सकते हैं। खगोल भौतिकी में डॉक्टरेट करने के बाद छात्र इसरो जैसे अनुसंधान संगठन में वैज्ञानिक भी बन सकते हैं।

और पढ़े   Food Processing In Hindi - फूड प्रोसेसिंग क्या है और इसमें करियर कैसे बनाये ?

5. डेयरी साइंस : 12वीं पास करने के बाद छात्र अखिल भारतीय स्तर पर प्रवेश परीक्षा पास करने के बाद 4 वर्षीय स्नातक डेयरी प्रौद्योगिकी पाठ्यक्रम में प्रवेश ले सकते हैं। कुछ संस्थान डेयरी टेक्नोलॉजी में 2 साल का डिप्लोमा कोर्स भी कराते हैं।

6. पर्यावरण विज्ञान: इसके तहत पारिस्थितिकी, आपदा प्रबंधन, वन्यजीव प्रबंधन, प्रदूषण नियंत्रण जैसे विषय पढ़ाए जाते हैं। इसमें नौकरी की अच्छी संभावनाएं हैं।

7. माइक्रो-बायोलॉजी : बी.एससी. जीवन विज्ञान में या बी.एससी. माइक्रो बायोलॉजी का कोर्स किया जा सकता है।

8. जल विज्ञान: यह जल की सतह से संबंधित विज्ञान है। इसमें जल मौसम विज्ञान, जल भूविज्ञान, जल निकासी बेसिन प्रबंधन, जल गुणवत्ता प्रबंधन, जल सूचना विज्ञान जैसे विषयों का अध्ययन करना होता है।

कॉमर्स और आर्ट्स के ट्रेडिशनल कोर्स के अलावा भी कई ऐसे प्रोफेशनल क्षेत्र हैं जिनमें एडमिशन लेने के बाद आप विज्ञान के छात्रों से बेहतर भविष्य बना सकते हैं।

1. फुटवियर डिजाइन और विकास संस्थान के फैशन, डिजाइन, खुदरा और प्रबंधन में स्नातक और स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों के लिए एक ऑनलाइन परीक्षा है। इस परीक्षा के माध्यम से 1,680 सीटों पर प्रवेश दिया जाता है।

2. कुछ होटल प्रबंधन संस्थान खाद्य उत्पादन में सर्टिफिकेट कोर्स भी कराते हैं। भारत सरकार के 12 फूड इंस्टीट्यूट भी इससे संबंधित कोर्स कराते हैं, जिसके बाद आप न सिर्फ शेफ के तौर पर बल्कि होटल इंडस्ट्री से जुड़े अन्य क्षेत्रों में भी अपना करियर बना सकते हैं। जो युवा होटल मैनेजमेंट और कैटरिंग के क्षेत्र में करियर बनाना चाहते हैं उन्हें 12वीं पास होना जरूरी है।

3. स्टॉक ब्रोकर बनने के लिए कम से कम वाणिज्य विषय में स्नातक होना चाहिए (अन्य स्ट्रीम के छात्रों के लिए भी वर्जित नहीं)। अगर आपको फाइनेंस, बिजनेस, इकोनॉमिक्स, कैपिटल मार्केट अकाउंट और निवेश आदि की अच्छी समझ है तो आप किसी भी स्टॉक ब्रोकिंग फर्म से जुड़कर अपना करियर शुरू कर सकते हैं।

और पढ़े   Bihar Board Question Bank , Model Paper Pdf Download

4. कला विषयों की पढ़ाई करने वाले ज्यादातर छात्र सिविल सर्विस की तैयारी में व्यस्त हैं, लेकिन इसके अलावा एमबीए, जर्नलिज्म, मार्केट एनालिसिस, टीचिंग, एंथ्रोपोलॉजी, ह्यूमन रिसोर्स, एमएसडब्ल्यू आदि क्षेत्रों में करियर के कई विकल्प हैं।

Engineering :

  • BITSAT //www.bitsadmission.com
  • COMED – https://www.comedk.org/

Medical :

  • All India Pre – Medical / Pre – Dental Entrance Test ( AIPMT )
  • All India Pre – Veterinary Test ( AIPVT )
  • AIIMS http://aiimsexams.org/

Marine, Navy and Defense

  • Indian Maritime University Common Entrance Test
  • Indian Navy B.Tech Entry Scheme

फैशन एवं डिजाइन

  • National Institute of Fashion Technology ( NIFT ) Entrance Test
  • National Institute of Design Admissions Other Design Schools & Exams
  • Srishti Manipal Institute of Art, Design and Technology

कला एवं सामाजिक विज्ञान

  • 1. IIT Madras Humanities and Social Sciences Entrance Examination ( HSEE )
  • 2. TISS Bachelors Admission Test ( TISS BAT )

HICT

  • The English and Foreign Languages University Hyderabad Entrance Test
  • JNU Admission Entrance Exam 1. Indian Council of Agricultural Research ICAR AIEEA – UG – PG
  • All India Hotel management Entrance Exam NCHMCT JEE

कानून

  • Common Law Admission Test
  • All India Law Entrance Test ( AILET )

विज्ञान

  • Kishore Vaigyanik Protsahan Yojana )
  • National Entrance Screening Test ( NEST )

गणित

  • Indian Statistical Institute Admission
  • Chennai Mathematical Institute Scholarship 2014 1 Entrance

12th ke baad ke course , 12th ke baad kya kare के बारे में आपको आज के पोस्ट में आपको कई तरह की जानकारी इस पोस्ट में दी गयी। हम उम्मीद करते है , कि आज का पोस्ट 12th ke baad kaun sa course kare के बारे में पूरी जानकारी आपको अच्छी लगी होगी। अगर आपको इससे सम्ब्नधित कोई सवाल है , तो आप निचे अपना सवाल पूछ सकते है।

Update on June 14, 2021 @ 1:57 pm

Knowledgewap एक हिंदी ज्ञानवर्धक ब्लॉग है , जिसका उद्देश्य हर ज्ञानवर्धक जानकारी को यहाँ उपलब्ध करना है। आशा करते है आपको दी गयी जानकारी पसंद आये। " आपका दिन शुभ हो "

Leave a Comment