हमारे जैसे बहुकोशिकीय जीवों में ऑक्सीजन की आवश्यकता पूरी करने में विसरण क्यों अपर्याप्त है ?

उत्तर:- बहुकोशिकीय जीवों में उनकी केवल बाहरी त्वचा की कोशिकाएँ और रंध्र ही आस-पास के वातावरण से सीधे संबंधित होते हैं । बहुकोशिकीय जीव जैसे मनुष्य में शरीर का आकार बहुत बड़ा होता है तथा शरीर की संरचना जटिल होती है । बहुकोशिकीय जीवो में सभी कोशिकाएँ सीधे ही पर्यावरण के संपर्क में नहीं होती इसी कारण साधारण विसरण क्रिया से सभी कोशिकाओं की ऑक्सीजन की आवश्यकता पूरी नहीं हो पाती । इसीलिए बहुकोशिकीय जीव में ऑक्सीजन की आवश्यकता पूरी करने में विसरण अपर्याप्त है।