ग्राफिक डिजाइन ( Graphic Design ) क्या होता है – पूरी जानकारी

0
25
ग्राफिक डिजाइन ( Graphic Design ) क्या होता है - पूरी जानकारी

ग्राफ़िक डिज़ाइन एक कला है या इसे आप अपनी कौशल भी कह सकते है। इसमें टेक्स्ट और कलर और चित्रों के संयोजन से विज्ञापन , पत्रिका और पुस्तकों को और भी ज्यादा इफेक्टिव और आकर्षक बनाया जाता है। ज्यादातर ग्राफ़िक्स डिज़ाइन के तहत कोई न कोई मैसेज देने की कोशिश की जाती है। इसे एक कम्युनिकेशन डिज़ाइन के रूप में भी जाना जाता है।

चलिए ये तो हुई कुछ बाते जो ग्राफ़िक डिज़ाइन के बारे में बताती है। और भी इस पोस्ट हम बात करेंगे ग्राफ़िक डिज़ाइन के बारे में। पर इससे पहले मैं आपको बात दूँ की अगर आप इस पोस्ट पर हैं और इस पोस्ट को पढ़ने में रूचि ले रहे है तो कही न कही आपको ग्राफ़िक डिज़ाइन पसंद होगी या आप क्रिएटिव होंगे या आपको कोई क्रिएटिविटी करना अच्छा लगता है।

अगर आप creative और हमेशा creativity करना या कुछ नया करना अच्छा लगता है तो तो ग्राफिक डिजाइनिंग आपके लिए एक अच्छा career option हो सकता है। तो चलिए मैं आपको ले चलता हूँ ग्राफ़िक डिजाइनिंग के रोमांच और attractive दुनिया में जहाँ आप ग्राफ़िक डिज़ाइन के बारे में बहुत कुछ जानेंगे।

ग्राफिक डिजाइन ( Graphic Design ) क्या होता है ?

What is Graphic Design in Hindi ग्राफ़िक डिज़ाइन एक कला है। इसमें टेक्स्ट और कलर और चित्रों के संयोजन से विज्ञापन , पत्रिका और पुस्तकों को और भी ज्यादा effective और आकर्षक बनाया जाता है। ज्यादातर ग्राफ़िक्स डिज़ाइन के तहत कोई न कोई मैसेज देने की कोशिश की जाती है। इसे एक visual communication डिज़ाइन के रूप में भी जाना जाता है। मेसेज मे ,Logo, Brochures, newsletter, poster या फिर किसी भी रूप में हो सकता है।

ग्राफिक डिज़ाइन, audience को एक मैसेज देने के लिए visual element जैसे कि टाइपोग्राफ़ी(Typography) ,images, symbols और कलर्स को चुनने और rearrange करने कि कला यह हमारी कलात्मक अभिव्यक्ति को दृश्यों को एक layout या सतह पर उकेरता है या कह सकते है वयवस्थित करता है। संक्षेप में बात करें तो एक विचार व्यक्त करने के लिए ग्राफ़िक डिज़ाइन का इस्तेमाल किया जाता हैं ।

ग्राफ़िक डिज़ाइन के सिद्धांत या नियम

Graphic Design Theory & Rules ग्राफ़िक डिज़ाइन के कुछ अपने नियम और सिद्धांत होते हैं। जिसका अनुपालन करके आप एक बेहतर ग्राफ़िक्स बना सकते हैं। जैसे एक बहुत ही प्रमुख सिद्धांत है KISS – KEEP IT SIMPLE एंड STUPID जिसका अर्थ है जहा तक हो सके इसे सरल रखे। .. कुछ बाते logical रखे ताकि वह hidden एवं रोमांचक मेसेज दे सके। ये जानले की ग्राफ़िक डिज़ाइन एक पेंटिंग या drawing नहीं है और भी। मतलब हमारे कहने कहने का मतलब है ग्राफ़िक डिज़ाइन पूरी तरह से कम्युनिकेशन बेस्ड होना चाहिए। इसके सिद्धांत कहते है पहले जानकारी या संछिप्त सन्देश के कल्पना को दृश्यों में विकसित करना होता है।

ग्राफिक डिजाइन का इतिहास

Graphic Design History पहले के पुरातन जमाने के पांडुलिपियोन या कई प्रकार की लिपियों का उल्लेख मिलता है मिस्र में , ग्रीस में और लासकॉक्स की गुफाओं से लेकर रोम के ट्रेज़न कालम से लेकर मध्य युग की प्रबुद्ध पांडुलिपियों , गिन्ज़ा , टोक्यो की नीयन रोशनी से लगाया जा सकता है ।

READ  Flutter क्या है - यह कैसे काम करता है Flutter Explain In Hindi

बेबीलोन में, कारीगरों ने मिट्टी की ईंटों या गोलियों में क्यूनिफॉर्म शिलालेखों को दबाया था जो निर्माण के लिए उपयोग किए गए थे। 15 वीं शताब्दी में किताबों और अन्‍य प्रिंटिंग उत्पादन के रूप में विकसित हुआ, एडवांस ग्राफिक डिज़ाइन इसके बाद के शताब्दियों में बढ़ा, कंपोजिटर्स या टाइपसेटर अक्सर पेजेस को डिज़ाइन करते थे।

19 वीं और 20 वीं शताब्दी के अंत में, विज्ञापन एजेंसियों एवं पुस्तक प्रकाशकों और पत्रिकाओं के द्वारा आर्ट डाइरेक्‍टर को नियुक्त किए गएँ , जिन लोगो के द्वारा ग्राफ़िक डिज़ाइन को और भी बेहतरीन बनाने के लिए विज़ुअल एलिमेंट को विकसित किया गया। 1922 के टाइपोग्राफर विलियम ए. डिविगंस ने उभरते हुए क्षेत्र की पहचान करने के लिए ग्राफिक डिजाइन का इस्तेमाल किया।

20 वीं शताब्दी के दौरान, ग्राफ़िक्स डिज़ाइन में एक विस्फोटक क्रांति आई , डिजाइनरों के लिए उपलब्ध तकनीक का विकसित होना शुरू होगया , जैसा कि डिजाइन के लिए कलात्मक और व्यावसायिक संभावनाएं थीं। इस प्रोफेशन का बहुत अधिक विस्तार हुआ, और ग्राफिक डिजाइनर, अन्य बातों के अलावा, मैगज़ीन पेजेस, बुक्‍स जैकेट, पोस्टर, कॉम्पैक्ट डिस्क कवर, डाक टिकट, पैकेजिंग, trademark, sign, Advertisement, टेलीविजन प्रोग्राम और मोशन पिक्‍चर के लिए kinetic टाइटल और वेब साइट्स इस्तेमाल करना शुरू कर दिए ।

21 वीं शताब्दी के अंत तक, ग्राफिक डिजाइन एक ग्‍लोबल प्रोफेशन बन गया था, क्योंकि एडवांस टेक्‍नोलॉजी और इंडस्‍ट्री पूरे विश्व में फैले है ।

ग्राफिक डिजाइन के एप्लिकेशन

Graphic Design Application हमें नहीं लगता है की इसके बारे में हम ज्यादा चर्चा करें क्यूंकि यदि हम आसपास की चीजों को देखें सभी पर कहीं न कही आपको कुछ न कुछ डिज़ाइन देखने को मिल जाएगी जैसे Eclair चॉकलेट्स से लेकर आपके कॉफी कप , न्यूज़ पेपर , टेलीविज़न आपके कपडे इत्यादि पर। वास्तव में, हम और आप हर दिन ग्राफिक डिजाइन के सैकड़ों उदाहरण देखते हैं।

ग्राफ़िक डिज़ाइन का हमारे ऊपर बहुत बड़ा कह सकते या कभी न समझ आने वाला असर पड़ता है। जैसे एक उदहारण से समझे तो चॉकलेट के ऊपर के कवर को देखकर उसे खरीद लेना या दो तरह के कुरकुरे के पैकेट को देखकर उसके flavour को जान लेना या टेलीविज़न पर किसी product का विज्ञापन देखकर उसे भी खरीद लेना इत्यादि। चलिए जानते है इसके कुछ बेहतरीन application जो हमें कभी न कभी प्रभावित जरूर करते हैं।

1. दृश्यों के द्वारा पहचान की जाने वाला डिज़ाइन (Visual identity graphic design)

इसमें ज्यादातर ब्रांड , bussiness या organization की जानकारी होती है इसमें ग्राफिक्स कुछ elements शामिल करके एक informative और attractive visual बनाने की कोशिश की जाती है।

उदाहरण के लिए लोगो , टाइपोग्राफी, color palettes और इमेजेज शामिल होती है। जो ब्रांड के personality को प्रस्तुत करता हैं।

2. विपणन और विज्ञापन ग्राफिक डिजाइन (Marketing & advertising graphic design)

इसमें बहुत सारे ग्राफ़िक डिज़ाइन शामिल है जैसेकि banner, postcards, infographics, brochures , signage ,ईमेल marketing templates, इत्यादि , इन सबका इस्तेमाल करके companies और organizations अपना विज्ञापन करवाती हैं।

3. यूजर इंटरफेस ग्राफिक डिजाइन (User interface graphic design)

इसे तो आप अपने daily life में देखते तो जरूर या अनुभव अनुभव भी जरूर करते ही होंगे जैसे आप आपने मोबाइल को देखिये उसमे installed application देखिये या आप हमारे वेबसाइट को भी देख सकते हैं। उनमे कही न कही color, images और texts का इस्तेमाल हुआ है और सभी elements को एक व्यवस्थित रूप में रखा गया है जिससे आपको एक बेहतर अनुभव मिलता है।

4. प्रकाशन ग्राफिक डिजाइन (Publication graphic design)

इसको भी आपने हमेशा अनुभव या देखते होंगे अपने books या novels पर या newspapers , magzines पर इत्यादि इनके covers को काफी attractive बनाया जाता है।

5. पैकेजिंग ग्राफिक डिजाइन (Packaging graphic design)

अब सभी जगह ग्राफ़िक डिज़ाइन का इस्तेमाल किया ही जा रहा है तो भला हमारे products और orders deliver करने वाली कम्पनिया पीछे कैसे रह सकती है जैसे amazon,Flipkart, paytm इत्यादि से को आर्डर करते है तो उसे अच्छे तरीके से pack करके आप तक पहुंचाया जाता है जिस पर कंपनी के लोगो , कंपनी के बारे में टेक्स्ट इत्यादि होते है।

READ  मशीन लर्निंग ( Machine learning ) क्या है - यह कैसे काम करता है - पूरी जानकारी

दूसरा उदहारण ले तो Swiggy और Zomato भी इसी लाइन में आते है उनके द्वारा deliver किये foods के पैकेट पर भी लोगो और restaurants का logo इत्यादि होता है।

तीसरा उदाहर जाने तो कोई प्रोडक्ट्स जैसे शैम्पू , क्रीम्स , मोबाइल , कलम , इत्यादि सभी पर लोगो और टेक्स्ट होता है बताता है की प्रोडक्ट किस कंपनी है इसके साथ साथ प्रोडक्ट्स के डिटेल्स के बारे में बताता है।

6. मोशन ग्राफिक डिजाइन (Motion graphic design)

आह हम सभी डिज़ाइन के बारे में बात करे और motion ग्राफ़िक डिज़ाइन के बारे में बात न करे तो यह कुछ ऐसा लगेगा की हमने बेस्ट के बारे में जाना ही नहीं। इसका इस्तेमाल करके ग्राहकों को products या services के तरफ कंपनियां लुभाती है। जैसे यही उनके लिए रामबाण है। Motion Graphics Design डिजाइनरों के लिए एक नई विशेषता है। औपचारिक रूप से टीवी और फिल्म के लिए आरक्षित, तकनीकी विकास ने उत्पादन समय और लागत को कम कर दिया है, जिससे कला का स्वरूप अधिक सुलभ और सस्ती हो गया है। अब, मोशन ग्राफिक्स सबसे नए प्रकार के डिज़ाइन में से एक है और इसे सभी Digital Plateforms पर पाया जा सकता है, जिसने सभी प्रकार के नए क्षेत्रों और अवसरों का निर्माण किया है।

7. पर्यावरण ग्राफिक डिजाइन (Environmental graphic design)

पर्यावरणीय ग्राफिक डिजाइन एक बहु-विषयक अभ्यास है जो ग्राफिक,architectural,interior, landscape और औद्योगिक डिजाइन को मिलाता है। डिज़ाइनर इन डिज़ाइनों की योजना बनाने और उन्हें लागू करने के लिए इन क्षेत्रों में किसी भी संख्या में लोगों के साथ सहयोग करते हैं। इस वजह से, डिजाइनरों के पास आमतौर पर ग्राफिक डिज़ाइन और architecture दोनों में शिक्षा और अनुभव होता है। उन्हें औद्योगिक डिजाइन अवधारणाओं से परिचित होना चाहिए और वास्तु योजनाओं को पढ़ने और sketch करने में सक्षम होना चाहिए।

पर्यावरण ग्राफिक डिजाइन लोगों को ,स्थानों को अधिक यादगार, दिलचस्प, जानकारीपूर्ण या navigation करने में आसान बनाकर अपने समग्र अनुभव को बेहतर बनाने के लिए स्थानों से जोड़ता है। पर्यावरणीय डिजाइन एक व्यापक प्रकार का डिज़ाइन है, इसके कुछ उदहारण है रास्ते पर लगाए गया sign boards, कमरों पर लिखे गएँ नंबर्स , या आप हमेशा देखते ही हैं अपने घर को या colleges को सभी की बहरी भीतरी डिज़ाइन अलग अलग होते है जो हमें उससे visually कनेक्ट करके रखता है

8. ग्राफिक डिजाइन के लिए कला और चित्रण (Art and illustration for graphic design)

ग्राफिक कला और चित्रण को अक्सर ग्राफिक डिजाइन के रूप में देखा जाता है, हालांकि वे अलग हैं। डिजाइनर संवाद और समस्याओं को हल करने के लिए art composition बनाते हैं, ग्राफिक कलाकार और illustrators मूल कलाकृति real artwork बनाते हैं। उनकी कला ललित कला से सजावट से लेकर कहानी चित्रण तक कई रूप लेती है।

भले ही ग्राफिक कला और चित्रण तकनीकी रूप से ग्राफिक डिजाइन के प्रकार नहीं हैं, लेकिन ग्राफिक डिजाइन के संदर्भ में व्यावसायिक उपयोग के लिए बहुत कुछ बनाया गया है, जिसके बारे में आप दूसरों के बिना बात नहीं कर सकते।

तो दोस्त! मुझे लगता अब तक आपको ग्राफ़िक्स डिज़ाइन के बारे में बहुत जानकारी मिल चुकी होगी और आशा करता ये पोस्ट पसंद भी आएगी। अगर आपको इस पोस्ट में कोई त्रुटि है या पोस्ट बहुत पसंद तो आप हमारे पोस्ट के comment section में अपनी राय रख सकते हैं। धन्यबाद !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here