Bihar Board Class 10th Godhuli Bhag 2 Chapter 5 Solutions

Bihar Board Class 10th Godhuli bhag 2 Solutions Hindi

नागरी लिपि – Bihar Board Class 10th Godhuli Bhag 2 Chapter 5 Solutions

godhuli bhag 2 ,गोधूलि भाग 2 class 10,godhuli भाग 2 समाधान,नागरी लिपि कक्षा -10 ,Nagri lipi Class 10 hindi ,नागरी लिपि पाठ के लेखक कौन है, Matric 2021 Question  Bihar Board [ Class-10 ] :- हिन्दी । HINDI – OBJECTIVE QUESTION ” नागरी लिपि ” पाठ का 34 v.v.i Question godhuli bhag 2

1. आचार्य हजारी प्रसाद द्विवेदी का जनम ……  ई ० में हुआ

( A ) 1906 ( B ) 1907 ( C ) 1908 ( D ) 1909

1. ‘ नागरी लिपि ‘ पाठ की विधा है

( A ) निबंध ( B ) कहानी ( C ) भाषण ( D ) रेखाचित्र

2. ‘ गुणाकर मुले ‘ द्वारा लिखा गया पाठ है

( A ) विष के दाँत ( B ) मछली ( C ) आविन्यो ( D ) नागरी लिपि

3. ‘ नागरी लिपी ‘ पाठ के लेखक हैं

( A ) यतीन्द्र मिश्र ( B ) गुणाकर मुले ( C ) अमरकांत ( D ) मैक्समूलर

4. गुणाकर मुले का जन्म ….. ई ० में हुआ

( A ) 1935 ( B ) 1945 ( C ) 1955 ( D ) 1925

5. गुणाकर मुले ने मैट्रिक से लेकर एम 0 ए 0 तक की पढ़ाई कहाँ की ?

( A ) मुंबई ( B ) चेन्नई ( C ) कोलकाता ( D ) इलाहाबाद

6. ‘ अक्षरों की कहानी ‘ के लेखक हैं

( A ) अनामिका ( C ) गुणाकर मुले ( D ) अमरकांत

7. गुणाकर मुले द्वारा लिखी गई पुस्तक है

( A ) महान वैज्ञानिक ( B ) सौर मंडल ( C ) अंतरिक्ष यात्रा

( D ) उपर्युक्त सभी

8. हिंदी तथा इसकी विविध बोलियाँ ………. लिपि में लिखी जाती

( B ) टैगोर ( A ) ब्राह्मी ( C ) बंगला ( B ) देवनागरी

( D ) इनमें से कोई नहीं

9. बंगला लिपि प्राचीन नागरी लिपि की पुत्री नहीं तो …… अवश्य है

( A ) बहन ( B ) बेटी ( C ) मौसी ( D ) माँ

10. सिक्कों पर “ वीर केरलस्य ‘ शब्द किसके शासकों द्वारा लिखा

 गया ?

( A ) पाटलीपुत्र ( B ) मगध ( C ) दिल्ली ( D ) केरल

11. ‘ वीर केरलस्य ‘ शब्द किस लिपि में लिखा गया

( A ) ब्राह्मी ( B ) नागरी ( C ) गरूमुखी ( D ) इनमें से कोई नहीं

12. ‘ राजराज राजेन्द्र प्रतापी चोड़ राजा किस सदी में हुए ?

( A ) दसवीं ( B ) ग्यारहवीं ( C ) बारहवीं ( D ) तरहवीं

13 . ने अपने सिक्कों पर ‘ राम – सीता ‘ की आकृति के साथ ‘ रामसीय ‘ लिखवाया था

( A ) शाहजहाँ ( B ) अकबर ( C ) औरंगजेब ( D ) हुमायु

14. नागरी लिपि के टाइप बने ……. सदी पूर्व

( A ) दो ( B ) तीन ( C ) चार ( D ) पाँच

15. दक्षिण भारत की नागरी लिपि कहलाती थी

( A ) नंदनागरी ( B ) गुरुमुखी ( C ) खरोष्ठी ( D ) ब्राह्मी

16. नागरी लिपि के आंरभिक लेख भारत में मिलते हैं

( A ) पूर्वी ( B ) पश्चिमी ( C ) उत्तरी ( D ) दक्षिणी

17. वरगुण का पलियम ताम्रपत्र किस लिपि में है ?

( A ) ब्राह्मी ( B ) खरोष्ठी ( C ) गुरुमुखी ( D ) नागरी

18. ‘ मराठी भाषा की कौन सी लिपि है ?

( A ) दवेनागरी ( B ) ब्राह्मी ( C ) नंदीनागरी ( D ) मराठी

19. ईसा की …… सदी से नागरी लिपि का प्रचलन सारे देश में था

( A ) आठवीं – नौवीं ( B ) नौवीं – दसवीं  ( C ) दसवीं ( D ) ग्यारहवीं

20. हिन्दी के ‘ आदिकवि ‘ हैं

( A ) चंदवरदाई ( B ) तुलसी ( C ) सरहपाद ( D ) गोरखनाथ

21. ‘ दोहाकोश ‘ के रचनाकार है

( A ) कन्हपा ( B ) लुइपा ( C ) मत्स्येन्द्रनाथ ( D ) सरहपाद

22. ‘ दोहाकोश ‘ का रचनाकाल सदी है

( A ) सातवीं ( B ) आठवीं ( C ) नौवीं ( D ) दसवीं

23. विजयनगर के शासकों ने अपने लेखों की लिपि को …… कहा है

( A ) नंदीनागरी ( B ) ब्राह्मी ( C ) खरोष्ठी ( D ) गुरुमुखी

24. विजयनगर के राजाओं के शासनकाल में ही सर्वप्रथम …… को लिपिबद्ध किया गया था

( A ) महाभारत ( B ) वेदों ( C ) उपनिषदों ( D ) पुराणों

25. नागरी लिपि में प्राचीन मराठी भाषा के लेख मिलने लग जाते हैं ?

( A ) दसवीं ( B ) ग्यारहवीं ( C ) बारहवीं ( D ) तेरहवीं

26. प्रख्यात राष्ट्रकूट राजा अमोघवर्ष किस सदी में हुआ ?

( A ) आठवीं ( B ) नौवीं ( C ) दसवीं ( D ) ग्यारहवीं

27. उत्तर भारत में सर्वप्रथम गुजरं प्रतीहार राजाओं के लेखों में कौन – सी लिपि मिलती है ?

( A ) नारगी ( B ) ब्राह्मी ( C ) खरोष्ठी ( D ) गुरुमुखी

28. ‘ मिहिर भोज ‘ का शासनकाल है

( A ) नौवीं सदी ( B ) आठवीं सदी ( C ) सातवीं सदी

( D ) छठी सदी

29. गुणाकर मुले ने से अधिक लेख लिखे

( A ) 2000 ( B ) 200 ( C ) 250 ( D ) 2500

30. बेतमा दानपत्र है

( A ) छठी शताब्दी का ( B ) सातवीं शताब्दी का ( C ) दसवीं शताब्दी का ( D ) ग्यारहवीं शताब्दी का

वैक्लपिक प्रश्न उत्तर
1.A2.D3.B4.A5.D6.C7.D8.B9.A10.D
11.B12.B13.B14.A15.A16.D17.D18.A19.A20.C
21.D22.B23.A24.B25.B26.B27.A28.A29.D30.D

परीक्षार्थियों के लिए निर्देश : -पाठ्य पुस्तकों से आठ लघु उत्तरीय प्रश्न पूछे जाएँगे जिनमें से पाँच प्रश्नों का उत्तर लिखना अनिवार्य होगा । प्रत्येक प्रश्न दो अंकों का होगा । शब्द सीमा 30-40 रहेगी ।

देवनागरी लिपि के अक्षरों में स्थिरता कैसे आयी है ?

उत्तर – नागरी लिपि के टाइप बनने और पुस्तक छपने से इसमें स्थिरता आ गई ।

प्रश्न 2. देवनागरी लिपि में कौन – कौन सी भाषाएँ लिखी जाती है

उत्तर – देवनागरी लिपि में संस्कृत , हिन्दी , नेपाली , नेवारी , मराठी , मैथिली , भोजपुरी , अवधी , गुजराती , मगही आदि भाषाएँ लिखी जाती है ।

प्रश्न 3. लेखक ने किन भारतीय लिपियों से देवनागरी का संबंध बताया है ?

उत्तर – लेखक ने गुप्तकालीन ब्राह्मी लिपि तथा बाद के सिद्धम लिपियों से इस देवनागरी लिपि का संबंध बताया है ।

प्रश्न 4.नंदीनागरी किसे कहते हैं ? किस प्रसंग में लेखक ने उसका प्रयोग किया है ?

उत्तर – नंदीनागरी देवनागरी को ही कहते हैं । महाराष्ट्र के राष्ट्रकूट राजाओं के समय नंदीनागरी ( नांदेड ) की लिपि होने के कारण इसे नंदीनागरी लिपि कहा जाने लगा ।

प्रश्न 5. नागरी लिपि के आरंभिक लेख कहाँ प्राप्त हुए हैं ? उनके विवरण दें ।

उत्तर – नागरी लिपि के आरंभिक लेख दक्षिण भारत के राष्ट्रकूटवंश के राजा दतिदुर्ग के राज्य में प्राप्त हुए । उसका सामगड दानपत्र 754 ई . का है जिसमें नागरी लिपि का प्रयोग है ।

प्रश्न 6. शाही और सिद्धम लिपि की तुलना में नागरी लिपि की मुख्य पहचान क्या है ?

उत्तर – ब्राह्मी और सिद्धम लिपि के अक्षरों के सिरों पर छोटी आड़ी लकीरें और ठोस तिकोन हैं लेकिन नागरी लिपि के अक्षरों पर लम्बी लकीरें अक्षरों की चौड़ाई के अनुरूप ऊपर रहती है ।

प्रश्न 7. उत्तर भारत के किन प्राचीन शासकों के प्राचीन नागरी लेख प्राप्त होते हैं ?

उत्तर – उत्तर भारत के गुर्जर प्रतिहार वंश के शासक कन्नौज में शासन करते थे जिसमें मिहिर भोज , महेन्द्रपाल प्रसिद्ध राजा हुए । मिहिर भोज ने 840 881 ई . तक शासन किया जिसका ग्वालियर प्रशस्ति पत्र देवनागरी लिपि का लेख है ।

प्रश्न 8. नागरी की उत्पत्ति के संबंध में लेखक का क्या कहना है ? पटना से नागरी का क्या संबंध लेखक ने बताया है ?

उत्तर- ” नागरी ” की उत्पत्ति के संबंध में लेखक गुणाकर मुले का कहना है कि नगर से ही नागरी शब्द बना है । पटना को कभी नगर कहा जाता था , फलतः पटना से ही इस लिपि उत्पत्ति होने के कारण नागरी लिपि कहा जाता है ।

प्रश्न 9. गुर्जर प्रतीहार कौन थे ?

उत्तर – वे विदेशी थे । वह भारत आकर बस गए । 8 वीं सदी के पूर्वार्द्ध में अवंती प्रदेश में इन्होंने अपनी सत्ता स्थापित की कालांतर में कन्नौज पर भी इनका अधिकार हो गया । उन राजाओं में मिहिर भोज और महेन्द्रपाल आदि का नाम उल्लेखनीय है ।

प्रश्न 10 , नागरी लिपि के साथ – साथ किसका जन्म होता है ? इस संबंध में लेखक क्या जानकारी देता है ?

उत्तर – नागरी लिपि के साथ – साथ भारत के इतिहास एवं इसकी संस्कृति के एक नवीन युग का जन्म होता है साथ ही इसके साथ – साथ अनेक प्रादेशिक भाषाएँ भी जन्म लेती हैं । इस संबंध में लेखक गुणाकर मुले जानकारी देते हैंकि आठवीं नौवीं सदी का आभिक हिन्दी साहित्य प्राप्त हुआ है तथा मराठी , बंगाली एवं गुजराती भाषा के लेख भी उसी काल के हैं ।

परीक्षार्थियों के लिए निर्देश : -परीक्षा में दो दीर्घ उत्तरीय प्रश्न पूछे जाएँगे जिनमें से किसी एक प्रश्न का उत्तर 50-60 शब्दों में लिखना होगा । यह प्रश्न 5 नंबर का होगा ।

प्रश्न 1.निबंध के आधार पर काल – क्रम से नागरी लेखों से संबंधित प्रमाण प्रस्तुत करें ।

उत्तर – लेखक गुणाकर मुले ने नागरी लेखों के संबंधित प्रमाण इस प्रकार प्रस्तुत किया है । आठवीं सदी का राष्ट्रकूट राजा दंतिदुर्ग का सामांगड दान पत्र । नौवीं सदी का जैन गणितज्ञ महावीराचार्य की रचना ” गणित सार संग्रह ” तथा 840 से 881 ई के बीच प्रतिहार शासक मिहिर भोज की ग्वालियर प्रशस्ति संस्कृत में लिखी गयी थी । दसवीं सदी में लिखित ” दोहाकोश ” ग्यारहवीं सदी में शिलाहार शासक केशिदेव प्रथम का शिलालेख । ग्यारहवीं सदी का ही महमूद गजनवी द्वारा चलाया गया सिक्का जिस पर नागरीलिपि में शब्द अंकित हैं । बारहवीं सदी में केरल शासकों के सिक्के पर नागरी लिपि में ‘ वीर केरलस्य ‘ लिखा है । तेरहवीं सदी के यादव राजाओं के ताम्रपत्र । चौदहवीं एवं पन्द्रहवीं सदी में विजयनगर के शासकों का लेख । इत्यादि

प्रश्न 2. नागरी को देवनागरी क्यों कहते हैं ? लेखक इस संबंध में क्या बतलाया है ?

उत्तर – लेखक के अनुसार नागरी शब्द नगर से संबंध रखता । पटना जो कभी नगर कहा जाता था वहाँ के राजा चन्द्रगुप्त विक्रमादित्य ( द्वितीय ) का व्यक्तिगत नाम देव था । संभव है कि पटना नगर देवनगर भी कहलाता होगा उसी के आधार पर उत्तर भारत की लिपि का नाम देवनागरी लिपि रखा गया होगा । लेखक ने इस संबंध में एक और प्रमाण प्रस्तुत करते हुए कहा है कि भारत के सभी शहर नगर कहलाते थे लेकिन काशी देवनागरी कहलाती थी अतः उसी का आधार लेकर उत्तर भारत की लिपि देवनागरी कहलाती होगी ।

गोधूलि भाग 2 Objective Question Answer

matric exam 2021 question paper ,class 10th objective question 2021 ,matric 2021 ka question ,matric model paper 2021 ,2021 matric question paper ,2021 ka matric ka question answer ,2021 matric question ,matric ka objective ,bseb 10th model paper 2021 ,godhuli bhag 2