NRC full Form In Hindi : NRC क्या है | पुरी जानकारी ।

NRC full Form In Hindi : NRC kya hai | NRC क्या है ? पुरी जानकारी । आज मैं आपको इसके बारे मे पुरी जानकारी देने वाला हूँँ . जब भारत और पाकिस्तान का विभाजन हुआ था तब काफी सारे दंगे हो रहे थे हर जगह जात पात को लेकर लड़ाई झगड़े किये जा रहे थे।

विभाजन के दौरान कई लोग असम से पूर्वी पाकिस्तान जिसे आज बांग्लादेश के नाम से जाना जाता है। वो पूर्वी पाकिस्तान चले गए , लेकिन उनकी जमीन और सम्पतिया वही रह गया , जिससे उस स्थान से लोगो का आना जाना लगा रहा , और जो लोग वहा से यहाँ तक आ रहे थे , उनमे हमें ये मालूम नहीं चल पा रहा था की आखिर कौन भारतीय है और कौन नहीं।

इसी कारण हमारे देश यानि की भारत सरकार द्वारा एक नियम पारित किया गया जिसमे ये था की जो लोग भारत में अवैध रूप से रह रहे है , जिनके पास कोई प्रमादिकता न हो उन्हें उनके मुल्क भेजने के लिए 1951 में राष्ट्रिय नागरिक रजिस्टर यानि की NRC तैयार किया गया तो चलिए जानते है NRC क्या है और इसका फुल फॉर्म क्या है ?

NRC का पुरा मकसद यही है की भारत में रह रहे अवैध रूप से लोगो को उनके मुल्क भेजने का। आपकी जानकारी के लिए बता दू की NRC केवल अभी तक असम में ही किया गया था , लेकिन इस बार सरकार का मकसद यह है , की इसे पुरे देश के राज्यों में लागू किया जाये।

NRC FULL FORM : NATIONAL REGISTER OF CITIZENS

NRC का फुल फोर्म NATIONAL REGISTER OF CITIZENS यही होता हैै, इसे हिंदी मे हम राष्ट्रिय नागरिक पंजीकरण कहते है।

राष्ट्रीय नागरिक पंजी जिसे आज से पहले लगभग 70 साल पहले 1951 मे तैयार किया गया था . उस समय सिर्फ इसे असम मे रखा गया . और फिर इसे 2013 मे सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर फिर से असम मे शुरु किया गया था , लेकिन इस बार इसे पुरे देश मे लागु करने कि बात कही जा रही है .NRC को उस समय के जनगणना के आधार पर बनाया गया था। भारतीय जनता पार्टी द्वारा यह पुरे भारत में लागु करने की बात कही गयी लेकिन ऐसा उम्मीद पर nrc खरा नहीं उतरा ,

NRC Kya hai | NRC क्या है

NRC यानि कि राष्ट्रीय नागरिक पंजी जिसका उदेेशशय भारत से सभी अवैध नागरिको को उनके निवास स्थान तक ले जाने के लिए एक सूचि तैयार की गयी , जिसे एनआरसी नाम दिया गया। असम मात्र एक ऐसा राज्य है , जहा पर nrc लागू है , और कही पर भी यह नहीं लागु किया गया है। nrc के तहत उन लोगो को जो भारत में 1971 के बाद आये है और निवास कर गए है , उन्हें उनके निवास स्थान पर छोड़ना है। और जो लोग भारत के नागरिक है , उन्हें अपने nrc में नाम रजिस्टर कराने के लिए सबूत के तौर पर कोई कागजात दिखाने होंगे। आपके पास भारत के निवासी होने का प्रमाण होना चाहिए।

NRC से जूडे भारत मे हुए कुछ घटना

1. 1951 मे इसे पहली बार तैयार किया गया

2. 1971 मे भारत पाकिस्तान युद्ध के कारण पुर्वी पाकिस्तान यानि कि बांगलादेश से भारत आये लोग

3. असम मे 1970 से 1980 अवैध लोगो और राजकिय लोगो मे सामजिक संघर्श शुरु

4. 1979 से 1985 तक आसू यानि ऑल असम स्टूडेंट्स यूनियन (AASU) के Student ने इसका जमकर विरोध किया .

5. असम समझौते पर 1985 मे किया गया हस्ताक्षर

6. supreme court मे फिर से Nrc पर किया गया वार्ता .

7. 2019 मे 31 अगस्त को इसकी अंतिम सुची जारी की गयी , जिसमे 19 लाख लोग हुए बाहर

8. 2020 के शुरुवाती दिनो मे इसका जमकर किया गया विरोध भारतिय जनता party ने किया वादा इसे पुरे देश मे लागू करने की .

NRC से सम्बंधित कुछ सवाल जो लोगो द्वारा पुछे जा रहे है .

1 . NRC के लिए कौन कौन से दस्तावेज कागजात होंगे जरुरी ?

NRC यानि की आपको देश के नागरिक होने की प्रमाणिकता को सिद्ध करने के लिए आपके पास आधार कार्ड , इन्शुरन्स पालिसी , राशन कार्ड , पैन कार्ड , वोटर कार्ड , जन्म प्रमाण पत्र , आय प्रमाण पत्र , पासपोर्ट इसके आलावा आपके पास जो भी प्रमाण है , जिससे आप भारत के नागरिक प्रमाणित हो सके , उन्हें आपको दिखाना है।

2. अगर कोई NRC में शामिल नहीं होगा तो क्या होगा ?

अगर कोई व्यक्ति इसमें शामिल नहीं होता है , और फिर ये पता चलता है , की वो इस देश का नागरिक नहीं है , तो उसे सरकार द्वारा उसके देश से सम्पर्क किया जायेगा , और उसे उसके देश वापस भेज दिया जायेगा।

3. क्या NRC में धर्म और जात पात के नाम पर लोगो को शामिल किया गया है ?

जी नहीं , ऐसा बिलकुल नहीं , NRC में ऐसा कोई मकसद नहीं है , जिसमे धर्म और जात पात के नाम पर लोगो को शामिल किया जाये , NRC में सिर्फ उन्ही लोगो को शामिल किया गया है जो इस देश में अवैध रूप से रह रहे है।

4. क्या NRC से भारतीय मुस्लमान को परेशानी है ?

जी नहीं , इसमें कोई भी धर्म के लोगो की परेशान होने की जरुरत नहीं है। अगर आप भारतीय नागरिक है और आपके पास प्रूव भी है , तो आपको NRC से परेशान होने की कोई जरुरत नहीं है |

5. क्या NRC में 1971 की पहले की कोई प्रमाणिकता साबित करनी होगी ?

जी नहीं , कई लोग अफवाह फैला रहे है , इस बात का की एनआरसी के लिए आपको अपने 1971 से पहले की कोई प्रमाणिकता देनी होगी। मैं आपको बता दू की असम की तरह पूरी जगह यह लागू नहीं किया जायेगा , बल्कि इसके कुछ अलग नियम बनाये जायेंगे।

6. क्या NRC के जरिये मुसलमानो से भारतीय होने का सबूत माँगा जाये।

सबसे पहली बात NRC को धर्म के नाम पर सवाल पूछना गलत है , NRC में किसी एक धर्म के बारे में जिक्र करना गलत है , अगर कोई भारतीय है , और उसके पास प्रमाण है भारतीय होने की। तो उसे कोई दिक्कत नहीं होगी। और हां हर धर्म के लोग चाहे वो मुस्लिम , हिन्दू , सिख ,ईसाई या पारसी या कोई भी धर्म का हो उनके पास प्रमाण होना चाहिए। की वो एक भारतीय है.

7.  जब एनआरसी अभी तक आया ही नहीं तो विरोध क्यों ?

आपकी जानकारी के लिए बता दू , कि nrc के बारे में जब से बात छिड़ी लोगो के बीच कई तरह के अफवाह फैलाये जा रहे है , की ये सिर्फ धर्म के नाम पर किया जा रहा है , बल्कि ऐसा नहीं है , सरकार द्वारा लोगो को ये बात साफ तौर पर बता दी गयी है , की जो लोग भारतीय है , उन्हें किसी भी बात पर डरने की जरुरत नहीं है , और कई लोगो को लगता है , की अगर वे अपनी प्रमाणिकता न सिद्ध कर पाए , तो उन्हें किसी और देश भेज दिया जायेगा , ऐसा बिलकुल नहीं है , सरकार ऐसा बिलकुल नहीं करेगी।सरकार आपको मदद करेगी। आपकी समस्या को सुलझाया जायेगा।

8. क्या एनआरसी मोदी सरकार ही पहली बार लेकर आ रही है?

नहीं , इससे भी पहले 2003 में लाया गया था , उस समय इसे असम तक ही सिमित रखा गया लेकिन अब इसे पुरे देश में लागू करने की बात की गयी है , ऐसा नहीं है की मोदी सरकार ने इसका पहला बार लागु किया गया है।

Hye Friends Knowledgewap ब्लॉग पर आपका स्वागत है, इस ब्लॉग पर हर दिन नई - नई जानकारियाँ लिखी जाती है। हम हर जानकारी को आपकी अपनी हिंदी में लिखते हैं। हमसे जुड़े रहने के लिए हमें सोशल मीडिया पर फॉलो कर सकते है और कमेंट बॉक्स में अपनी राय जरूर दें ताकि हम और बेहतर कर सके, धन्यवाद।

Leave a Comment