नई आर्थिक नीति मार्क्सवादी सिद्धांतों के साथ समझौता था। कैसे ?

मार्च, 1921 ई. में लेनिन ने नई आर्थिक नीति का प्रतिपादन किया जिसमें साम्यवादी विचारधारा के साथ-ही-साथ पूँजीवादी विचारधारा को स्वीकार किया गया । जैसे

(i) कृषकों से अतिरिक्त उपज की अनिवार्य वसूली बंद कर दी गई एवं
किसानों को अतिरिक्त उत्पादन को बाजार में बेचने की अनुमति प्रदान की गई।

(ii) 1924 ई. में सरकार ने अनाज के स्थान पर रूबल (सोवियत संघ की
मुद्रा) में कर लेना प्रारम्भ किया ।

(iii) सोवियत संघ में छोटे उद्योगों का विराष्ट्रीयकरण किया गया 1922 ई० में चार हजार छोटे उद्योगों को लाइसेंस जारी किया गया ।

(iv) श्रमिकों को कुछ नगद मुद्रा प्रदान किया जाने लगा।