भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन में महात्मा गांधी के योगदान का वर्णन करें

महात्मा   गांधी   का   भारतीय   राष्ट्रीय   आंदोलन   में   अहम   योगदान   रहा   है।   जनवरी   1915   में   गांधीजी   दक्षिण   अफ्रीका   से   भारत   लौट   आए।   इससे   पहले   उन्होंने   दक्षिण   अफ्रीका   में   शोषण ,  अन्याय   एवं   रंगभेद   की   नीति   के   विरुद्ध   सत्याग्रह   आंदोलन   किया   था।   महात्मा   गांधी   अपने   अतुल्य   योगदान   के   लिये   ज्यादातर   “ राष्ट्रपिता   और   बापू ”   के   नाम   से   जाने   जाते   है।   वे   एक   ऐसे   महापुरुष   थे   जो   अहिंसा   और   सामाजिक   एकता   पर   विश्वास   करते   थे।   उन्होंने   भारत   में   ग्रामीण   भागो   के   सामाजिक   विकास   के   लिये   आवाज   उठाई   थी ,  उन्होंने   भारतीयों   को   स्वदेशी   वस्तुओ   के   उपयोग   के   लिये   प्रेरित   किया   और   बहोत   से   सामाजिक   मुद्दों   पर   भी   उन्होंने   ब्रिटिशो   के   खिलाफ   आवाज   उठायी।   वे   भारतीय   संस्कृति   से   अछूत   और   भेदभाव   की   परंपरा   को   नष्ट   करना   चाहते   थे।   बाद   में   वे   भारतीय   स्वतंत्रता   अभियान   में   शामिल   होकर   संघर्ष   करने   लगे।   भारतीय   इतिहास   में   वे   एक   ऐसे   महापुरुष   थे   जिन्होंने   भारतीयों   की   आजादी   के   सपने   को   सच्चाई   में   बदला   था।   इस   शोध – पत्र   में   महात्मा   गांधी   के   आंदोलन   का   अध्ययन   किया   गया   है।

गाँधी जी द्वारा किये गए आंदोलन

चंपारण आंदोलन

असहयोग   आन्दोलन

स्वराज   और   नमक   सत्याग्रह

हरिजन   आंदोलन   और   निश्चय   दिवस

भारत   छोड़ो   आन्दोलन