0

भारतीय समाज में जाति आधारित श्रम – विभाजन है , जो भारत में बेरोजगारी का बड़ा कारण है । श्रमिक की रुचि – अरुचि का इस व्यवस्था में कोई महत्त्व नहीं रह जाता । श्रमिक में किसी कार्य के प्रति अरुचि हो तो वह उस कार्य को पूर्ण मनोयोग से नहीं कर सकता । इस स्थिति में वह बेरोजगार हो जाएगा और समाज में बेरोजगारी दिन – प्रतिदिन बढ़ती चली जाएगी ।

Changed status to publish