Rebirth Story In Hindi – पुनर्जन्म की सच्ची कहानी

Rebirth Story In Hindi – पुनर्जन्म की सच्ची कहानी

इस लेख में आपको एक पुनर्जन्म की सच्ची घटना पर आधारित सच्ची कहानी को बताया गया है , यदि आप पुनर्जन्म में यकीं रखते है , तो आप इस कहानी को जरूर पढ़ सकते है , और यदि यकीं न भी रखते हो , तो यह कहानी आप पढ़ सकते है।

पुनर्जन्म की सच्ची घटनाएं इन हिंदी

Rebirth Story In Hindi जुलाई सन् 1970 की बात है । श्री . व्रजविहारी लाल जी , गाजियाबाद में एक आयकर अधिकारी थे । एक दिन उनके एक पुत्र ने अपने पूर्वजन्म की बातें बताकर घर में सबको आश्चर्यचकित कर दिया ।

वह अपने को पूर्वजन्म में लखनऊ का एक मुसलमान बताता था । उसकी कहानी को उसके पिताजी ने कुछ ऐसे सुनाया – हम जाति के अग्रवाल वैश्य हैं , मेरठ के रहने वाले हैं ।

मेरठ के सुप्रसिद्ध वकील स्वर्गीय बाबू बैजनाथ जी हमारे बाबा थे । हमारे घर जब इस बालक का जन्म हुआ तो उसका शुभ नाम सुभाष रखा गया । जब हम आयकर अधिकारी होकर बरेली गए , तब परिवार के साथ यह लड़का भी था । एक बार इसके बड़े भाई की वर्षगाँठ थी , उस दिन उसका जन्मदिवस मनाया जा रहा था ।

जन्मदिवस के उपलक्ष्य में घर में खाना – पीना हुआ और उसकी खुशी में इसके बड़े भाई को बाजार से एक कैरमबोर्ड खरीदकर मँगवा दिया गया ।

Read more  Rebirth Story In Hindi - पुनर्जन्म की एक सच्ची घटना

सुभाष का बड़ा भाई और सुभाष दोनों कैरमबोर्ड खेल रहे थे । खेलते – खेलते अचानक किसी बात को लेकर दोनों का आपस में कुछ झगड़ा हो गया ।

दैवयोग से ठीक उसी समय सुभाष की अपने पूर्वजन्म की स्मृति जाग्रत हो गई और उसने क्रोध में कैरमबोर्ड को एक तरफ फेंकते हुए अपने बड़े भाई से कहा- ” यह ले तू अपने कैरमबोर्ड को , मैं कोई गरीब थोड़े ही हूँ , मैं तो लखनऊ का बहुत बड़ा रईस आदमी था । आज भी लखनऊ के मेरे मकान में नब्बे हजार रुपये गड़े हुए हैं ।

मैं एक नहीं , अपने उन रुपयों से हजारों कैरमबोर्ड मँगवा लूँगा । ” बस , उसी दिन से उसने अपने पूर्वजन्म की बातें बताना आरंभ कर दिया ।

बालक सुभाष से जब हमने पूछा- ” तुम पूर्वजन्म में कौन थे ? ” तो उसने बताया- ” मैं पूर्वजन्म में एक मुसलमान था । मेरा नाम था – मुहम्मद खान । मैं बड़ा रईस आदमी था और लखनऊ में रहा करता था । ” फिर हमने अपने पुत्र से ढेर सारे प्रश्न किए और उसने उनके सटीक जवाब भी दिए । हमने उससे पूछा- ” लखनऊ में तुम कहाँ रहते थे ? ” वह बोला- ” मैं केसरबाग में रहता था । ” यह पूछने पर कि तुम वहाँ क्या करते थे ? तुम्हारे परिवार में कौन थे ? तो वह बोला – ‘ मेरे ससुर बड़े ही मालदार थे ।

Read more  Knowledge Story In Hindi - ज्ञानवर्धक कहानी

उनके कोई लड़का नहीं था । बस , सिर्फ लड़कियाँ ही थीं । इसलिए मेरे ससुर ने मुझे अपने पास ही रख लिया था । अपनी सारी जायदाद का मुझे मालिक बना दिया था ।

मेरी बीबी का नाम शफिया खान था । मेरे चार लड़के और दो लड़कियाँ थीं । दो लड़के उस्मानिया यूनिवर्सिटी , हैदराबाद में पढ़ा करते थे ।

मेरी एक लड़की लखनऊ में ब्याही थी और दूसरी इलाहाबाद में । उस समय पाँचों वक्त की नमाज पढ़ा करता था और रोजे भी रखता था ।

मेरे पास एक कार भी थी । ” ” तुम्हारी कार का क्या नंबर था कुछ याद है ? ” यह पूछने पर वह बोला- ” हाँ । यू.एस.जे. 32891 ” ” तुम्हारी लखनऊ में कुछ और भी चीजें रखी हुई थीं क्या ? ” ” हाँ ! मुसलमान सुरमा लगाने के बड़े शौकीन होते हैं , मेरे पास भी उस समय सोने की चार सुरमेदानियाँ थीं , जो मेरी अलमारियों में थीं । ” ” तुम्हारी पूर्वजन्म में मृत्यु कैसे हुई , क्या तुम्हें याद है ? ” ” हाँ ! मुझे याद है ।

Read more  Knowledgeable Story In Hindi - ज्ञानवर्धक कहानियाँ

मैं पूर्वजन्म में एक दिन लखनऊ के अपने तिमंजिले मकान की छत पर खड़ा था कि अचानक उस समय एक बंदर ने आकर मेरे ऊपर हमला कर दिया । मैं उस बंदर से घबराकर भागने लगा कि तभी मैं तिमंजिले मकान से एकदम नीचे आकर गिरा और उसी समय तत्काल मेरी मृत्यु हो गई । फिर मैंने यहाँ पर जन्म ले लिया ।

” जब इस घटनाक्रम की जाँच कराई गई तो ये सारी बातें अक्षरशः सत्य निकलीं । यहाँ तक कि उसके द्वारा बताए गए स्थान पर 90,000 रुपये भी गड़े निकले ।

ये घटनाक्रम सिद्ध करते हैं कि आत्मा , शरीर बदलकर फिर नए जन्मों की यात्रा पर निकल जाती है । कार्य शुभ हों तो परिणाम भी शुभ होते हैं और अगला जन्म अच्छा बनता है । इसलिए सदा शुभ कर्म करने चाहिए ।

प्रिय पाठको हम ये पूरी तरह से दावा नही करते है , कि यह कहानी कितनी प्रतिशत सत है , कृपया आप इसे मनोरंजन के लिए पढ़े। यही हम आशा करते है। धन्यवाद

आपका दिन शुभ हो

[jetpack_subscription_form show_subscribers_total=”false” button_on_newline=”false” custom_background_button_color=”linear-gradient(135deg,rgb(254,205,165) 0%,rgb(254,45,45) 0%,rgb(107,0,62) 100%)” custom_font_size=”16px” custom_border_radius=”0″ custom_border_weight=”1″ custom_padding=”15″ custom_spacing=”10″ submit_button_classes=”” email_field_classes=”” show_only_email_and_button=”true”]

Knowledgewap is a informative blog, whose purpose is to make every informative information available here. Hope you like the given information. " Have a good day "

Leave a Comment