world radio day kyu mnaya jata hai?

नमस्कार दोस्तों ,मैं हूँ भास्कर और आज के इस आर्टिकल के through मैं आपको Radio के इतिहास और उसके प्रसारण की शुरुवात के बारें में बताने जा रहा हूँ। 

दोस्तों आज जिस तरह से हर हाथ में मोबाइल नज़र आता हैं ,उसी तरह एक समय ऐसा था जब सभी के हाथो में Radio नज़र आता था ,लेकिन आज तो Radio इतिहास बनता जा रहा हैं ,

लेकिन आज भी ग्रामीण इलाको यानि गावों में आपको घर -घर में रेडियो मिल जाएगी ,आज fm चैनल और इंटरनेट Radio ने अपनी पहचान अभी तक लोगो के सामने बनाई हैं ,

शायद आपके घर में भी रेडियो होगा ,तो क्या आपको उसको देखकर उसके बारें में जानने की इच्छा नहीं होती हैं ,आपको जरूर इसके बारें में जानने की इच्छा होती होगी ,दोस्तों रेडियो के इस रोमांचक सफर को देखते हुए 13 फरवरी को पूरे विश्व में world Radio day मनाया जाता हैं ,

वर्ल्ड  रेडियो डे की शुरुवात साल 2012 से हुई हैं ,किंगडम ऑफ़ स्पेन की सिफारिस पर UNESCO ने 3 नवंबर 2011 को  unesco जनरल कॉन्फ्रेंस ने 13 फरवरी को world Radio डे के रूप में घोषित किया ,इसके बाद से वर्ष 2012 से हर साल 13 फरवरी को world radio day के रूप में मनाया जाता हैं। 

कब हुआ था ? radio का पहला प्रसारण :

दोस्तों आज से लगभग 113 साल पहले 24 december 1906 की शाम कनाडाई वैज्ञानिक रेगीनाल्ड फेसेडन ने अपना वायलिन 

बजाकर पुरे अंटलांटिक महासागर में तैर रहे जहाज के रेडियो ओपेरटर ने अपने रेडियो सेट पर सुना।  



वह दुनिया में अभी रेडियो प्रसारण की शुरवात ही की थी ,इसी तरह उसी समय फेसेडन ने अपनी आवाज़ में गाना भी गाया , और बायबिल के  कुछ पंक्तिया भी पढ़ी ,

इससे पहले भी मार्कोनी ने साल 1900 में इंग्लैंड से अमेरिका तक wireless यानि बेतार सन्देश भेजकर रेडियो की शुरवात कर दी थी ,लेकिन एक से अधिक लोगो को एक साथ सन्देश भेजने की की शुरवात फेसडेन ने ही की थी। 

कैसा हैं ?radio का इतिहास :

रेडियो का प्रसारण पिछले 113 सालो का इतिहास काफी रोचक रहा हैं। 


ली द फारेस्ट और चार्ल्स हेराल्ड्स जैसे लोगो ने इसके बाद radio प्रसारण का प्रयोग करना शुरू किया ,तब तक रेडियो का प्रयोग सिर्फ नौसेना तक ही सिमित था  


वर्ष 1917 में प्रथम विश्वयुद्ध की शुरुवात के बाद किसी भी गैर फौजी के लिए Radio का प्रयोग पर रोक लगा दिया गया 

कब बना पहला रेडियो स्टेशन :

वर्ष 1918 में ली द फारेस्ट ने न्यूयोर्क के हाई ब्रिज इलाके में दुनिया का पहला Radio स्टेशन शुरू किया ,पर कुछ दिनों बाद ही पुलिस को खबर लग  गयी और रेडियो स्टेशन बंद करा दिया गया ,


इसके एक साल बाद ली द फारेस्ट ने 1919 में सैन फ्रांसिस्को में एक और radio station शुरू कर दिया। नवंबर 1920 में नौसेना में काम कर चुके फ्रैंक कोनार्ड ने दुनिया की पहली क़ानूनी तौर पर रेडियो स्टेशन शुरू करने की अनुमति मिली। 


कुछ ही सालो में देखते ही देखते दुनियाभर में सैकड़ो Radio स्टेशनो में काम करना शुरू कर दिया गया ,रेडियो में विज्ञापन देने की शुरुवात 1923 में हुई 

अपने देश में Radio का शुरुवात :

अपने देश में radio ब्रांडकास्टिंग की शुरुवात वर्ष 1923 में हुई थी लेकिन 1930 तक Indian brandcasting company (IBC) दिवलिया हो गयी यानि की इसे बेचना पड़ा ,


इसके बाद indian स्टेट ब्रांडकास्टिंग सर्विस को बनाया गया था ,वर्ष 1936 में अपने देश में सरकारी इम्पीरिअल रेडियो ऑफ़ इंडिया की शुरवात की गयी world war -2 के दौरान इसके सारे लाइसेंस रद्द कर दिए गए 

आजादी के बाद Radio प्रसारण :

आजादी के बाद भारत में रेडियो सरकारी नियंत्रण में रहा। सरकारी संरक्षण में रेडियो का काफी प्रसार हुआ। वर्ष 1947 में आकाशवाणी के पास छह रेडियो स्टेशन थे लेकिन उसकी पहुंच 11 %लोगो तक ही थी 


आज देश में आकाशवाणी के 420 से ज्यादा रेडियो स्टेशन हैं जिनकी 92% क्षेत्र में 99.19%आबादी तक इसकी पहुंच हैं 

दोस्तों कैसी लगी आपको रेडियो के बारें में यह जानकारी हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट कर जरूर बताये।        “धन्यवाद”

         READ ALSO:

kaise hua cycle ka avishkar/साइकिल कब और कैसे बना ?    

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here